क्या हार्दिक पंड्या ओवर कंफिडेंस का शिकार हो गए हैं, आठ पारियों में बनाए सिर्फ इतने रन


4, 10, 8, 10, 14, 1, 0 और 8 रन। ये भारतीय टीम की ओर से हार्दिक पंड्या के वनडे और ट्वेंटी 20 मिलकर पिछली आठ पारियों के स्कोर हैं। जाहिर है ये आंकड़े उस ऑलराउंडर को शोभा नहीं देते जिसकी तुलना बेन स्टोक्स से की जा रही हो। तो आखिरी हार्दिक पंड्या का प्रदर्शन लगातार गिरता क्यों जा रहा है। क्या वे ओवर कंफिडेंस का शिकार हो गए हैं?



पंड्या ने पहले श्रीलंका दौरे पर और फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में जिस तरह का खेल दिखाया उससे लगा कि भारत को अगला कपिल देव मिल गया है। इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ वे खास कमाल नहीं कर पाए। तभी अचानक उन्होेंने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से ब्रेक ले लिया। जब वे सीमित ओवर की दो सीरीज पहले वनडे और फिर ट्वेंटी 20 के लिए वापस आए तो उनका प्रदर्शन लगातार खराब होता गया। 

पंड्या के खेल को देखकर लगता है कि वे बेहद लापरवाह अंदाज में बल्लेबाजी करने लगे हैं। जिस तरह खराब शॉट खेलकर वे विकेट फेंक रहे हैं उससे लगता है कि वे बल्लेबाजी को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। अगर उनकी बल्लेबाजी लगातार खराब होगी तो इसका असर गेंदबाजी पर भी पड़ेगा। न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्वेंटी 20 सीरीज में उन्होंने गेंद के साथ अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन यह तभी मुमकिन हो पाया जब अन्य गेंदबाजों ने श्रीलंका को पहले ही बैकफुट पर ला दिया।

पंड्या का असली इम्तिहान अब शुरू होगा। वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारतीय दल का हिस्सा हैं। दक्षिण अफ्रीकी पिचें तेज गेंदबाजी की मददगार होती है। लिहाजा वहां पंड्या से विकेट की उम्मीद होगी। साथ ही यह भी उम्मीद होगी कि वे नंबर छह या सात पर आकर रन भी बनाएं।