इंग्लैंड में अगले साल होने वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप में भाग लेने वाली आखिरी दो टीमों का नाम तय करने के लिए जिम्बाब्वे में 4 मार्च से आईसीसी वर्ल्ड कप क्वालिफायर टूर्नामेंट शुरू हो रहा है। इसमें दो बार की पूर्व वर्ल्ड चैंपियन वेस्टइंडीज समेत 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। फाइनल में पहुंचने वाली दोनों टीमें वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई कर जाएगी। यह पहला मौका है जब क्वालिफायर टूर्नामेंट में पूर्व वर्ल्ड चैंपियन टीम हिस्सा ले रही है।


हाल ही में आयरलैंड और अफगानिस्तान को टेस्ट दर्जा मिला है। इस तरह क्वालिफाइंग टूर्नामेंट टेस्ट स्टेटस रखने वाली चार टीमें खेल रही हैं। ऐसी दो अन्य टीमें वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे की है। इस तरह टेस्ट खेलने वाली दो टीमों का वर्ल्ड कप से बाहर होना तय है। यह भी आईसीसी वर्ल्ड कप के इतिहास में पहली बार होगा।

चार टीमों को मिलेगा वनडे स्टेटस
  • 34 मैच खेले जाएंगे इस टूर्नामेंट में। पहला मैच 4 मार्च को और फाइनल 25 मार्च को खेला जाएगा।
  • इस क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के सभी मैच वनडे इंटरनेशनल मैच का दर्जा प्राप्त होंगे। यानी इसमें बने रिकॉर्ड काउंट होंगे।
  • टूर्नामेंट के बाद नीदरलैंड और टॉप-तीन स्थान पर पर रहने वाली टीमों को 2022 तक के वनडे इंटरनेशनल खेलने का स्टेटस मिल जाएगा।
  • नीदरलैंड को आईसीसी क्रिकेट लीग चैंपियनशिप का खिताब जीतने के कारण वनडे दर्जा मिला है।
 इस फॉर्मेट के साथ होगा टूर्नामेंट
  • 10 टीमों को पांच-पांच की संख्या में दो ग्रुप ए और बी में बांटा गया है।
  • ग्रुप चरण में लीग मैच खेले जाएंगे। इसके बाद दोनों ग्रुप से टॉप-3 टीमें सुपर सिक्स में जाएंगी।
  • सुपर सिक्स के बाद टॉप दो टीमें फाइनल में जाएंगी। यही दो टीमें वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई करेंगी।

ये हैं टीमें
  • ग्रुप ए : आयरलैंड, नीदरलैंड, यूएई और पापुआ न्यू गिनी और वेस्टइंडीज
  • ग्रुप बी : अफगानिस्तान, हांगकांग, नेपाल, स्कॉटलैंड और जिम्बाब्वे